Image_(9)

पाठक के नाम एक ख़त: “प्रतिलिपि”

(प्रतिलिपि  बुक्स  के बारे में मेरा यह लेख कुछ सम्पादित हो कर आउटलुक हिंदी के जून २०११ अंक में प्रकाशित हुआ है) २ अप्रैल २००८ को हमने हिंदी-अंग्रेजी में साहित्य और विचार की एक द्विभाषी पत्रिका “प्रतिलिपि” का ऑनलाइन प्रकाशन शुरू किया. इसके पहले अंक में थोड़े-से लेखक थे, महीने भर की तैयारी थी और दो साहित्य संपादकों और…